मिर्जापुर से विश्व सनातन संसद अध्यक्ष नियुक्त हुए डॉ. संतोष यादव

: मिर्जापुर में हुई विश्व सनातन संसद की बैठक और डॉ. संतोष यादव अध्यक्ष नियुक्त हुए

विश्व सनातन संसद के सभी सदस्य एक परिवार के सदस्य हैं यह संगठन हमारा समाज और परिवार हैं संगठन के सभी सदस्यों के विचार-धारा अलग हो सकते हैं लेकिन लक्ष्य एक होना चाहिए हमें सभी के विचारों को भावनाओ को समझना चाहिए और अपनी प्रतिक्रिया सरल सहज और मर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए देनी चाहिए!हिन्दू केवल वह नहीं है जो हिन्दू कुल में पैदा हुआ है बल्कि हर वह व्यक्ति भी हिन्दू है जिसके दिल में हिन्दूतव की विचार-धारा निवास करता है जो भी हिन्दू भाई बहन वेद पुराण का ज्ञान रखते हैं उनसे अनुरोध है प्रार्थना है की आप हम सभी का मार्गदर्शन करें ताकि हम सभी आपने धर्म और हिन्दू समाज को सही तरीके समझ कर आपके बताये गए रास्ते पर चलकर आपने जीवन को सफल बनाने का प्रयास करें राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ विजय राज सिंह मुख्य रूप से संरक्षक शैलेश कुमार सिंह व प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव सिंह मुख्य रुप से सामाजिक सेवा से शोषित वंचित असहाय भाई बहन को पूर्ण रूप से मदद करने का आश्वासन दिया

(काशी खबर)
मिर्जापुर। कचहरी रोड स्थित आवास विकास कॉलोनी शाखा में विश्व सनातन संसद की बैठक संपन्न हुई। बैठक में मुख्य रुप से सामाजिक सेवा से शोषित वंचित असहाय भाई बहन को पूर्ण रूप से मदद करने का आश्वासन दिया गया। जिसमें ब्लॉक स्तर व विधानसभा स्तर पर पदाधिकारियों की नियुक्ति की गई।
राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ विजय राज सिंह ने बताया कि आगामी नवरात्र मेला में निशुल्क कैंप लगाने की सहमति प्रदान की गई तथा हिंदुत्व को साथ लेकर चलने की बात कही
नवनियुक्त पदाधिकारी
1. अध्यक्ष: डॉ संतोष यादव
2. उपाध्यक्ष: डॉ प्रभाकर यादव, प्रमुदित कुशवाहा, सत्यम सिंह, पंकज दुबे
3. सचिव: विकास चौबे, राहुल शुक्ला, संजय विश्वकर्मा, गगन मौर्य
4. आईटी सेल: आशीष यादव, किशन, अनुराग सिंह, पंकज प्रजापति, दीपक स्वर्णकार, सुनील यादव, आकाश कुशवाहा, आदित्य चौरसिया
5. महिला उपाध्यक्ष: नेहा उपाध्याय

कार्यक्रम में मुख्य रूप से संरक्षक शैलेश कुमार सिंह व प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव सिंह उपस्थित रहे। डिजिटल बैठक में गोविंद बिंद, गौतम चौरसिया, सत्यम सिंह, मोहित व सैकड़ों युवा उपस्थित रहे।
विश्व सनातन संसद के सभी सदस्य एक परिवार के सदस्य हैं यह संगठन हमारा समाज और परिवार हैं संगठन के सभी सदस्यों के विचार-धारा अलग हो सकते हैं लेकिन लक्ष्य एक होना चाहिए हमें सभी के विचारों को भावनाओ को समझना चाहिए और अपनी प्रतिक्रिया सरल सहज और मर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए देनी चाहिए!हिन्दू केवल वह नहीं है जो हिन्दू कुल में पैदा हुआ है बल्कि हर वह व्यक्ति भी हिन्दू है जिसके दिल में हिन्दूतव की विचार-धारा निवास करता है जो भी हिन्दू भाई बहन वेद पुराण का ज्ञान रखते हैं उनसे अनुरोध है प्रार्थना है की आप हम सभी का मार्गदर्शन करें ताकि हम सभी आपने धर्म और हिन्दू समाज को सही तरीके समझ कर आपके बताये गए रास्ते पर चलकर आपने जीवन को सफल बनाने का प्रयास करें!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *